Bharat Ki Rashtrya Bhasa Kaun si hai – भारत की राष्ट्रभाषा कौन सी है?

हर देश मैं एक ऐसी भाषा होती है जिसे बहुत अधिक बोला जाता है जिसे हम उस देश के मुख्य भाषा कह सकते हैं अलग-अलग देश में अलग-अलग प्रकार की भाषा बोली जाती है हम यह जानते हैं कि विश्व भर में अंग्रेजी का बोलबाला बहुत अधिक है मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि अंग्रेजी विश्व में सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा नहीं है। इसके बारे में आज के लेख में हम चर्चा करेंगे अगर Bharat Ki Rashtrya Bhasa Kaun si hai इसे आप जानना चाहते हैं तो हमारे लेख के साथ अंत तक बने रहे।

भारत विभिन्न भाषाओं का देश है जहां अधिकारिक तौर पर 22 और गैर आधिकारिक तौर पर 50 से अधिक भाषाएं बोली जाती है जिस वजह से किसी एक भाषा को राष्ट्रभाषा कहना विरोध का कारण हो सकता है इस वजह से भारत के हर नागरिक को जानकारी होनी चाहिए कि Bharat Ki Rashtrya Bhasa Kaun si hai। 

Bharat Ki Rashtrya Bhasa Kaun si hai - भारत की राष्ट्रभाषा कौन सी है?

Bharat Ki Rashtrya Bhasa Kaun si hai

अगर हम भारत के राष्ट्रभाषा की बात करें तो इसका प्रस्ताव संविधान की बैठक में सबसे पहले भीमराव अंबेडकर के द्वारा लाया गया था उनका कहना था कि भारत की सबसे प्राचीन भाषा संस्कृत है जिसे यहां का राष्ट्रभाषा कहना चाहिए। मगर इसका जमकर विरोध किया गया इसके बाद हिंदी भाषा को भारत की राष्ट्रभाषा बनाने के लिए प्रस्ताव लाया गया जिसे दक्षिण भारत के लोगों के द्वारा खारिज कर दिया गया। 

भारत में कई बार राष्ट्रभाषा को लेकर विवाद उत्पन्न हुआ है जिसका निराकरण आज तक नहीं हो पाया संवैधानिक तौर पर कहीं भी हिंदी को राष्ट्रभाषा के रूप में लिखा हुआ नहीं पाएंगे हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया है अर्थात अधिकांश जगह पर हिंदी भाषा बोली जाती है जिस वजह से हिंदी भाषा को राज्य भाषा का दर्जा दिया गया है उसे राष्ट्रभाषा का दर्जा नहीं दिया गया है। 

Must Read – टिक टॉक जैसे कुछ एप के बारे मे जानकारी | tik tok jaisa indian app

क्या राष्ट्रभाषा आवश्यक है?

नहीं हर देश का कोई राष्ट्रभाषा हो यह आवश्यक नहीं है आप पाएंगे कि विश्व में ऐसे बहुत सारे देश हैं जो अन्य भाषा को एक भाषा का ही दर्जा देते है। सरल शब्दों में कहें तो हमारा पड़ोसी देश चीन वह सबसे अधिक मदारनी भाषा बोली जाती है मर्दानी भाषा चीनी भाषा का एक प्रकार है, जो विश्व में सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषा है।

उस देश में केवल इस भाषा को मान्यता दिया जाता है तो हम कह सकते हैं कि वहां के राष्ट्रीय भाषण निश्चित है मगर कुछ अन्य देश ऐसे हैं जहां पर भाषा को केवल भाषा का महत्व दिया गया है वहां पर किसी एक भाषा को सर्वोच्च नहीं माना जाता है जिसमें से एक उदाहरण भारत का है। 

विश्व में सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषा

जैसा कि हमने आपको बताया बहुत सारे लोगों को ऐसा लगता है कि विश्व में सबसे अधिक अंग्रेजी भाषा बोली जाती है हम यह मानते हैं कि अंग्रेजी भाषा का वर्चस्व विश्व में सबसे अधिक है अंग्रेजी भाषा को एक वैश्विक भाषा के रूप में देखा जाता है क्योंकि अगर किसी व्यक्ति को अंग्रेजी भाषा आती है तो वह विश्व के किसी भी क्षेत्र में अपनी बात को व्यक्त कर सकता है। 

विश्व में सबसे अधिक समझे जाने वाली भाषा अंग्रेजी है मगर विश्व में सबसे अधिक बोले जाने वाली भाषा मदारनी है जो चीनी भाषा का एक प्रकार है।

Must Read – जिओ फोन के स्क्रीन का फोटो कैसे लें | jio phone me screenshot kaise le

निष्कर्ष

उम्मीद करते हैं ऊपर बताई गई जानकारी को पढ़ने के बाद भारत की राष्ट्रीय भाषा कौन सी है के बारे में आप समझ पाए होंगे साथ ही किस प्रकार भारत की राष्ट्रभाषा रखी गई है और आप कैसे इस भाषा से प्रेरित होकर अधिक जानकारी जान सकते हैं इसके बारे में इस लेख में हमने आपको बताया। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगती है तो इसे अपने मित्रों के साथ साझा करें साथ ही अपने सुझाव और विचार हमें कमेंट में बताना ना भूलें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *