Cycle ka avishkar kisne kiya – जानिए कीसने साइकिल का आविष्कार किया

Cycle ka avishkar kisne kiya आज हम फिर आपके लिए एक नया लेख लेकरं आए है की साइकिल का आविष्कार किसने किया हम आपको इस लेख में कई सारी जानकारी देने वाले है जो पढ़कर आपको हमारे वैज्ञानिको के योगदान और खोज के बारे पता चलेगा. बता दे की जिस साइकिल को हम बचपन से चलाते आ रहे हैं उसे हिंदी में द्विचक्र वाहिनीकहते हैं. दरअसल, साइकिल में दो पहिए होते हैं और इसकी वजह से इसे द्विचक्र वाहिनी कहा जाता है. कई बार ग्रामीण क्षेत्रो में साइकिल को पैरगाड़ीभी कहते हैं, क्योंकि इसे पैरों से चलाया जाता है.

Cycle ka avishkar kisne kiya - जानिए कीसने साइकिल का आविष्कार किया

बता दे साइकिल हमारे यहां 19वी सदी में काफी प्रचलित हुआ करती थी. जबकी आज भी है. परंतू तब की बात ही कुछ और थी. क्योंकी साइकिल के अविष्कार ने ही आगे की छुपी गुत्तियों का रहस्य खोल दिया था. तात्पर्य यह है की साइकिल के आविष्कार के बाद ही कहीं वाहनो जैसे बाइसिकल, बस, ट्रैन, टेम्पो, एयरप्लेन, कार जैसे साधनो को खोजने में कई वैज्ञानिको को प्रेरणा मिली थी. तो चलिए हम बताते है की साइकिल का आविष्कार किसने किया था?

Cycle ka avishkar kisne kiya 

आपकी जानकारी के लिये बतादे की सबसे पहली साइकिल लकड़ी की बनाई गयी थी. और लगभग 200 साल पहले बनाई गयी थी. इस साइकिल को कार्ल वॉन ड्रेस ने 12 जून साल 1817 में बनाया था. कार्ल वॉन एक प्रसिद्द जर्मन वैज्ञानिक थे जिन्होंने साइकिल के अलावा कई सारे उपकरणों का भी आविष्कार किया है.

बता दे कार्ल वॉन ने बिना पेडल की साइकिल बनाई थी. इस साइकिल का वजन लगभग 23 किलोग्राम की थी. पेडल न होने की वजह से इस साइकिल को धक्का लगाकर चलाया जाता था. लेकिन उस वक़्त तो यह किसीं वरदान से कम नहीं था, ऐसा मान सकते है. कार्ल वॉन ने बनाई साइकिल को उस समय जर्मनी के दो शहर रिनाऊ और मैनहेम में पुरे शहर में चलाकर प्रदर्शित किया गया था. यह साइकिल एक घंटे में लगभग किलोमीटर की दुरी तय कर पाती थी.

पेडल वाली साइकिल का आविष्कार कार्ल वॉन के साइकिल से प्रेरित होकर फ्रांस के एक मैकेनिक व आविष्कारक पिएर्रे लालमेंट ने साल 1866 में किया था. बता दे की इस साइकिल में पेडल को पिछले पहिये से एक चैन से जोड़ा गया था. इसके बादके आने वाले वर्षो मे साइकिल में और भी बदलाव हुए यानि स्पोक व्हील की साइकिल बनाई गई. स्पोक व्हील साइकिल का आविष्कार किया यूजीन मेयर ने साल 1869 में किया था. इस साइकिल का नाम रखा गया पेनी फार्थिंग जिसमे यह विशेषता थी की इसमें पिछला पहिया छोटा और आगे का पहिया काफी बड़ा हुआ करता था.

अगर आज हम बाजार में आधुनिक साइकिल देख पा रहे है तो उसका श्रेय जॉन केम्प स्टारली को जाता है. इस ब्रिटिश अविष्कारक ने साइकिल को साल 1885 में बनाया था.

Also Read – Whatsapp hack kaise kare – जानिए व्हाट्सआप कैसे हॅक करे?

निष्कर्ष

तो दोस्तों इस लेख में हमने आपको यह बताने का प्रयास किया की Cycle ka avishkar kisne kiya? और इसके बारे में सभी जानकारी देने की कोशिश की है. साथ ही साथ इसके बारे मे और जितनी ज्यादा हो सके उतनी जानकारी देने कि कोशिश कि है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *